प्यासी भाभी को गरम करके खूब रगड़ा (Pyaasi Bhabhi Ko Garam Karke Khoob Ragda)

प्यासी भाभी को गरम करके खूब रगड़ा
(Pyaasi Bhabhi Ko Garam Karke Khoob Ragda)


मेरा नाम करन है. मैं राजस्थान से हूँ. मेरा शरीर साधारण ही है. लन्ड का साइज़ कुछ साढ़े छह इंच की है. यह चूत चुदाई स्टोरी मेरे गांव के घर के पड़ोस की भाभी के साथ हुई चुदाई की है. भाभी का नाम जया था. उनका फिगर बड़ा मस्त था. यही कोई 34-28-36 का मदमस्त फिगर था … जिसे देख कर किसी के भी लन्ड में फुरफुरी आ जाए और लन्ड बिना सिग्नल पाए झट से खड़ा हो जाए.

मैं अपनी पढ़ाई से फ्री होकर गांव गया हुआ था. भाभी की शादी को अभी एक साल हुआ था. गांव में जाकर मैं अपनी भाभी से पहली बार मिला, तो मैं उनको देखता ही रह गया. आह क्या मस्त फिगर था उनका … पहली बार में लन्ड ने हिचकोले लेने शुरू कर दिए थे और पहला मौका मिलते ही मैंने उनके घर के बाथरूम में ही जाकर भाभी की मदमस्त देह को याद करके मुठ मार ली. मगर ये जल्दीबाजी में मारी गई मुठ थी, इसलिए मुझे चैन नहीं मिला.

उनको देखने के बाद मैं अपने घर आ गया और कमरे में नंगा होकर पूरी तसल्ली से भाभी के नाम से 2 बार मुठ मारी … तब मेरे लन्ड को कुछ शान्ति मिली.

फिर धीरे धीरे मेरी उनसे बात होने लगी. भाभी का स्वभाव बहुत अच्छा था. उनकी मुस्कुराहट और खिलखिला कर हंसने की आदत ने मुझे घायल कर रखा था.

बातों बातों में हम खुलने लगे और एक दिन भाभी मुझसे मेरी जीएफ के बारे में पूछने लगीं.
मैंने कहा- मेरी कोई जीएफ नहीं है.
उन्होंने कहा- क्यों ऐसा क्यों? कोई मिली नहीं क्या … या कोई स्पेशल चाहिए, बताओ तुम्हारी पसंद कैसी है?

तब मैंने कहा कि मुझे कोई आपके जैसी कोई मिली ही नहीं, जिसे मैं अपनी जीएफ बना लेता.
तो इस पर जया भाभी ने बोला- अच्छा … मेरी जैसी चाहिए … लेकिन ये तो बताओ कि मुझमें ऐसा क्या है?
मैंने कहा- आप बहुत ब्यूटिफुल हो भाभी. आपके बारे में आपको भैया ही बता सकते हैं.

ये सुनकर भाभी खिलखिला कर हंस दीं.

भाभी हंसते हुए बोलीं- ऐसा क्या ख़ास देख लिया कि तुम नहीं बता सकते हो, मुझे तुम्हारे भैया से ही पूछना चाहिए?
मैंने कहा- भाभी, आपकी हर चीज खूबसूरत है.
भाभी- जैसे कौन कौन सी चीजें खूबसूरत हैं … बताओ न.
मैंने कहा- उन अंगों की खूबसूरती तो भैया ही बता सकते हैं, जो मुझे अच्छी लगती हैं.

भाभी समझ तो पहले ही गई थीं, लेकिन तब भी वो मुझे छेड़ रही थीं.
वो बोलीं- तुम क्यों नहीं बता सकते?
मैंने कुछ नहीं कहा, चुप हो गया.

अब भाभी ने बात बदल दी थी और वे मुझे कुछ सेक्सी बातों की तरफ मोड़ने लगी थीं. हम दोनों सेक्स पर बात करने लगे.

कुछ देर बाद माहौल एकदम दोस्ताना हो गया तो मैंने पूछा- भाभी आपकी शादी को एक साल हो गया, आपने अभी तक बच्चा प्लान नहीं किया … इसका क्या कारण है.
इस पर भाभी का चेहरा फीका पड़ गया और वो रोने लगीं.

उनको एकदम से रोती देख कर मैं घबरा गया. जब मैंने रोने का कारण पूछा तो भाभी ने कहा कि तुम्हारे भैया मुझे खुश नहीं कर पाते हैं … तो बच्चा कहां से होगा.

मैंने उनको और कुरेदा.
तो भाभी ने राज खोल दिया- वो जल्दी झड़ जाते हैं और मैं प्यासी रह जाती हूँ.
इतना कह कर वो फिर से रोने लगीं.

मैंने सही मौका देख कर उनको अपने गले से लगा लिया और उनकी पीठ पर हाथ फेर कर भाभी को शांत करने लगा.

मैंने जैसे ही भाभी को गले से लगाया, तो उन्होंने भी मुझे कसके पकड़ लिया.

आज मौका भी सही था. उनके घर में हम दोनों के अलावा और कोई नहीं था.

मेरे हाथ भाभी की पीठ पर चलने लगे थे. भाभी के हाथ भी मेरी कमर पर चलने लगे और उन्होंने अपना चेहरा मेरे सीने पर टिका दिया. उनकी गरम सांसें मुझे एक सेक्सी सा अहसास दिलाने लगी थीं.

मैंने महसूस किया कि भाभी के चूचे मेरे सीने में दब रहे थे. इस सबसे मेरे लन्ड ने खड़ा होना शुरू कर दिया था. दो तीन पलों में ही मेरा लन्ड पेंट में तंबू बना कर खड़ा हो गया. इस बात का पता भाभी को भी चल गया … क्योंकि मेरे लन्ड के उभार को वो अपनी चूत के ऊपर महसूस कर रही थीं.

भाभी मुझसे चिपकी रहीं.
मैंने उनसे कहा- चलो आप कुछ देर आराम कर लो.
भाभी उठ कर खड़ी हो गईं. मैं उनको देखने लगा. भाभी भी मुझे वासना भरी निगाहों से देखने लगी थीं.

भाभी ने मुझसे कहा- चलो अन्दर बैठते हैं.

मैं उनके कहने पर बेडरूम में आ गया और उनके साथ बेड पर बैठने लगा.

तभी भाभी ने मुझे खड़ा किया और एकदम से मेरे सीने से लग गईं.

मैं समझ गया कि आज इनको मेरा लन्ड चाहिए. मैं उनको चूमने लगा भाभी भी मुझे साथ देने लगीं. मैंने उनको एक मिनट से भी कम समय में नंगी कर दिया. अब भाभी सिर्फ़ पिंक ब्रा और पैंटी में रह गई थीं. मैंने उनको बिस्तर पर बैठा दिया.

भाभी ने भी बैठे हुए ही मेरे सारे कपड़े निकाल दिए और मैं अंडरवियर में रह गया.

फिर हम दोनों एक दूसरे को ज़ोर से किस करने लगे. मैं भाभी के मम्मों को दबाने लगा और भाभी ज़ोर ज़ोर से सिसकारियां लेने लगीं.

भाभी- इसस्स … अह ईश धीईईरेए … करो प्लीज़ …

मैंने भाभी की ब्रा खोल दी और उनके मम्मों को आज़ाद कर दिया. भाभी ने अपने बूब्स मेरी आंखों के सामने एक बार मस्ती से हिला क्या दिए कि मैं तो मानो बौरा गया. मैंने झट से उनके एक बूब्स को अपने मुँह में भर लिया और पीने लगा.
प्यासी भाभी को गरम करके खूब रगड़ा (Pyaasi Bhabhi Ko Garam Karke Khoob Ragda)
प्यासी भाभी को गरम करके खूब रगड़ा (Pyaasi Bhabhi Ko Garam Karke Khoob Ragda)
साथ ही भाभी के दूसरे मम्मे को जोरों से दबाने लगा.

भाभी बस ज़ोर ज़ोर से सिसकारियां ले रही थीं- इस्स … ऊऊह एयायाह …

मैं ज़ोर ज़ोर से भाभी को किस करते हुए एकदम पागल हुआ जा रहा था. फिर मैंने उनको बिस्तर पर गिरा दिया और उनके ऊपर चढ़ गया. मैं सबसे पहले नीचे उनकी चूत पर आया और पैंटी के ऊपर से ही उनकी चूत पर चुम्मी ले ली, जिससे उनकी चूत ने उसी पल पानी छोड़ दिया.

इसके बाद मैंने उनकी पैंटी निकाल दी और उनकी चूत को जीभ से चाटने लगा. भाभी भी अपनी कमर उठा उठा कर मुझसे अपनी चूत चटवा रही थीं. उनको फिर से उत्तेजना भरने लगी थी.

कुछ पल बाद मैंने उनकी तरफ देखा, तो उनकी आंखों में एक मस्त प्यास सी दिखाई दी. मैंने लन्ड हिलाते हुए उनको दिखाया तो भाभी उठ कर बैठ गईं. मैं समझ गया.

अब हम दोनों 69 की अवस्था में आ गए थे. मेरे खड़े लन्ड को देख कर भाभी के चेहरे पर ख़ुशी दिखाई देने लगी थी.

उन्होंने मेरे लन्ड की तरफ अपना मुँह किया और मेरे लन्ड को अपने मुँह में लेकर ज़ोर ज़ोर से चूसने लगीं.

भाभी मेरे लन्ड को बड़े मस्त तरीके से चूस रही थीं. मैं भी भाभी की चूत को नीचे से चाट रहा था. चूत को चाटने के साथ में मैं एक उंगली भी उनकी चूत में अन्दर बाहर कर रहा था.

थोड़ी देर में ही हम दोनों झड़ गए. मैं भाभी की छूट का सारा नमकीन पानी पी गया और भाभी ने भी मेरे लन्ड के पानी को पीकर लन्ड चाट कर साफ़ कर दिया. वो मेरे लन्ड को चाटती ही रहीं, जिससे मेरा लन्ड फिर से खड़ा होने लगा था.

थोड़ी देर में भाभी ने मेरे लन्ड को चूस कर फिर से खड़ा कर दिया.

अब हम दोनों किस करने लगे और मैंने भाभी की चूत को फिर से चाट कर उनको गर्म कर दिया.

अब भाभी बोलीं- मुझसे रहा नहीं जा रहा … प्लीज़ तुम जल्दी से अपना लन्ड मेरी चूत में डाल दो … और मुझे चोद दो करन … मैं न जाने कितने दिनों से प्यासी हूँ.
ये सुनते भी मैंने कहा कि मेरे पास तो कंडोम है ही नहीं … कुछ हो गया तो?
इस पर भाभी ने बोला- उसकी ज़रूरत नहीं है … तुम मुझे ऐसे ही चोद दो. अपने लन्ड को मेरी चूत में डाल दो.

मैंने भाभी को चुदाई की पोजीशन में लिटाया और अपने लन्ड को उनकी चूत पर टिका कर एक जबरदस्त शॉट दे मारा. मेरा लन्ड भाभी की चूत को चीरता हुआ अन्दर चला गया.

भाभी को तेज दर्द होने लगा ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ और उनकी आंखों से पानी आने लगा.

उनका दर्द देख कर मैंने उनकी तरफ देखा, तो भाभी ने इशारे से चुदाई करते रहने को कहा.

मैंने अपने होंठ भाभी के होंठों से लगा दिया और उनको किस करने लगा. थोड़ी देर में भाभी नॉर्मल हो गईं. वो अपनी कमर उठा कर मेरा लन्ड अन्दर लेने लगीं. मैं समझ गया और फिर मैंने भाभी की चूत में धक्के लगाने चालू कर दिए.

भाभी ज़ोर ज़ोर से चिल्लाने लगीं- एयेए इस्स … और ज़ोर से चोदो मुझे करन … आह … एयेए … मज़ा आ रहा है … आज से तुम ही मेरी चूत के मालिक हो … आह … और ज़ोर से फक मी हार्डर …
मैं भाभी की चूत में ज़ोर ज़ोर से शॉट मारने लगा.

कुछ देर बाद मैंने भाभी को डॉगी स्टाइल में आने को कहा. वो झट से कुतिया बन गईं. मैंने पीछे से उनकी चूत में अपना लन्ड पेला और उन्हें ज़ोर ज़ोर से चोदने लगा.

भाभी भी अपनी गांड मेरे हर शॉट के साथ आगे पीछे कर रही थीं. थोड़ी देर में भाभी ने मुझे नीचे आने आने के लिए बोला. मैं बिस्तर पर लेट गया और भाभी मेरे लन्ड की सवारी करने लगीं. इस दौरान मैं भी नीचे से उनका साथ दे रहा था.

थोड़ी देर में भाभी की चूत ने पानी छोड़ दिया और वो निढाल होकर मेरे ऊपर गिर गईं. उनके चेहरे पर पूर्ण संतुष्टि के भाव थे. वो मेरे सीने पर किस कर रही थीं.

लेकिन मेरा अभी हुआ नहीं था, सो मैंने भाभी को नीचे लिटा लिया और उनकी चूत में लन्ड डाल कर ज़ोर ज़ोर से धक्के देने लगा.

काफी देर की चुदाई में भाभी कई बार झड़ी थीं.
अब मैंने कहा कि भाभी मेरा होने वाला है … पानी किधर निकालूं?
भाभी ने कहा- मेरी चूत में ही झड़ जाओ.

मैं तेज तेज धक्के देने लगा और कुछ ही देर में भाभी और मैं एक साथ झड़ गए. मैं उनके ऊपर ही लेटा रहा.

अब भाभी ने मुझसे पूछा- अब बताओ तुमको मुझमें क्या अच्छा लगा?
मैंने भाभी की चूची चूसते हुए कहा- पहले तो ये आम अच्छे लगते थे, मगर अब आपकी चूत पसंद आ गई है.
भाभी मुझसे चिपक गईं और बोलीं- आज से मेरा सब कुछ तुम्हारा है.

आज की चुदाई से भाभी बहुत खुश थीं. इसके बाद जब भी हम दोनों को मौका मिलता है, हम दोनों चुदाई कर लेते हैं.
प्यासी भाभी को गरम करके खूब रगड़ा (Pyaasi Bhabhi Ko Garam Karke Khoob Ragda) प्यासी भाभी को गरम करके खूब रगड़ा (Pyaasi Bhabhi Ko Garam Karke Khoob Ragda) Reviewed by Priyanka Sharma on 1:22 AM Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.