चार अफ्रीकन्स के साथ गैंगबैंग (Chaar Africans Ke Sath GangBang)

चार अफ्रीकन्स के साथ गैंगबैंग(Chaar Africans Ke Sath GangBang)


मैंने एग्जाम के लिए भी फॉर्म भरा था, जिसका सेंटर मुझे जैसलमेर मिला. जैसलमेर यहां से 400 किलोमीटर दूर है. एग्जाम सुबह 9 बजे था, तो मैं एक दिन पहले ही निकल गयी. मैंने देखा कि मेरी दूसरी सीट पर चार अफ्रीकन बैठे थे. मैंने सबसे पास वाले से हैलो बोला … तो उसने भी हैलो बोला. उसके साथ मेरी कुछ देर तक बातें हुईं. उन सभी ने कहा कि उन्हें इंडियन कल्चर बहुत पसंद आया. 
चार अफ्रीकन्स के साथ गैंगबैंग (Chaar Africans Ke Sath GangBang)
चार अफ्रीकन्स के साथ गैंगबैंग (Chaar Africans Ke Sath GangBang)
मेरी तारीफ़ करते हुए एक ने कहा कि मैं साड़ी में बहुत हॉट लग रही हूँ. मुझे भी अफ्रीकन लंड का स्वाद लेना था. धीरे धीरे वो मेरी बातों से, मेरी भावनाओं को समझ रहे थे. इसलिए वो भी कभी कभी मुझे छेड़ रहे थे. फिर एक स्टेशन पे बस रुकी, तो मैं पानी और कुछ खाने का सामान लेने के लिए नीचे उतर रही थी. तभी ओकले ने धीरे से मेरे हिप्स पे थप्पड़ लगा दिया … जिससे मेरी बॉडी में करंट लग गया. आगे कहानी में पढ़ें। Click Here To Read More

Pages: 29
Words: 5444

चार अफ्रीकन्स के साथ गैंगबैंग (Chaar Africans Ke Sath GangBang) चार अफ्रीकन्स के साथ गैंगबैंग (Chaar Africans Ke Sath GangBang) Reviewed by Priyanka Sharma on 9:59 PM Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.