भाभी ने किया चुदने का इंतजाम (Bhabhi Ne Kiya Chudne Ka Intzaam)

भाभी ने किया चुदने का इंतजाम
(Bhabhi Ne Kiya Chudne Ka Intzaam)

मेरा नाम अंश है और मैं उत्तर प्रदेश के लखनऊ में रहता हूँ. मेरी हाइट 5 फुट 6 इंच है. मैं एथलेटिक जिस्म का मालिक हूँ क्योंकि मैं बहुत फुटबॉल और क्रिकेट खेलता हूँ. मेरी उम्र 21 साल है. मैं फरुखाबाद में कोचिंग ले रहा हूँ और मैंने फरुखाबाद में ही एक कमरा किराये पर लिया हुआ है. मुझे यहां रहते हुए 2 महीने हो चुके हैं.

यह घटना 20 दिन पुरानी है. मैं सारा दिन की पढ़ाई और कोचिंग के बाद कुछ टाइम फिटनेस सेंटर के लिए निकाल लेता हूँ. शाम को मेरे जिम टाइम में फिटनेस सेंटर में काफी लड़कियां आंटियां और भाभियां भी आती थीं.

शुरूआती समय में कुछ दिन तक तो मेरा ध्यान सिर्फ अपनी एक्सरसाईज पर होता था और एक्सरसाइज पूरी होते ही मैं रूम पे आ जाता था.

कुछ दिन बाद फिटनेस सेंटर में एक और नई भाभी ने जॉइन किया, वो शादीशुदा थीं, लेकिन उनका फिगर गजब का था. आप अंदाजा लगा लो किसी पोर्न स्टार जैसा मस्त जिस्म था. भाभी थीं भी गोरी चिट्टी, पंजाबी माल.
अभी उन्हें फिटनेस सेंटर आए दो तीन दिन ही हुए थे. मैं अपनी एक्सरसाइज लगा रहा था और वो भी पास खड़ी अपनी एक्सरसाइज कर रही थीं.

वो फिटनेस सेंटर में नई थीं, तो उनसे एक्सरसाइज ठीक से नहीं हो पा रही थी. वो डम्बल को गलत तरीके से उठा के एक्सरसाइज कर रही थीं. मैं थोड़ा हेल्पिंग नेचर का हूँ, इसलिए मैंने उन्हें बता दिया कि आप गलत कर रही हैं.
कसरत ठीक से कैसे करनी है, मैंने भाभी को ये बता दिया.

उन्होंने मुझे थैंक्स कहा और प्यारी सी मुस्कराहट दे दी. तब तक मेरे मन में कुछ भी गलत नहीं चल रहा था.

अगले दिन भी भाभी मुझे फिटनेस सेंटर में मिलीं और हल्की सी मुस्कराहट के साथ हैलो कहा. तो मैंने भी रिप्लाई में हैलो कह दिया.
मैं अपनी एक्सरसाइज करने लगा और भाभी मेरे करीब अपनी कसरत करने लगीं.

वो मुझसे कसरत करते समय पूछने लगी- क्या मैं ठीक कर रही हूँ?
मैं भी उन्हें बता देता- हां ऐसे करो या ऐसे नहीं करो.

ऐसे ही 2-4 दिन तक चलता रहा. मैं फिटनेस सेंटर के बाद अक्सर ही जूस पीता हूँ. जूस वाली शॉप बिल्कुल फिटनेस सेंटर के साथ में ही है, तो लगभग सारे फिटनेस सेंटर के सदस्य वहीं से जूस पीते हैं.

मैं भी रोज़ की तरह कसरत के बाद जूस पी रहा था. तभी फिटनेस सेंटर वाली भाभी भी जूस पीने आ गईं. मैंने मुस्कराहट के साथ हैलो कहा और उन्होंने भी मुस्कराहट दे कर रिप्लाई दिया.
फिर उन्होंने कहा- आई एम पूनम.
मैंने भी अपना नाम बताया और जूस पीने लगा.

मैंने फिर भाभी से पूछा- आप कहां रहती हैं?
उन्होंने बताया कि वो आवास विकास में रहती हैं.
मैंने उन्हें मजाक में ही कह दिया- भाभी आपको फिटनेस सेंटर में आने की क्या जरूरत है … आप तो पहले से ही काफी फिट हो.
इस पर उन्होंने हंस कर कहा- मैं अक्सर घर पर फ्री होती हूँ, तो थोड़ा टाइम निकाल कर बाहर फिटनेस सेंटर के लिए आ जाती हूँ.

कुछ देर बाद जूस पीना खत्म हुआ और मैंने उन्हें बाय कहकर निकल गया. मैं रूम में आ गया. मुझे उस दिन बहुत अच्छा लग रहा था. मेरे दिमाग में भाभी की मुस्कराहट घूम रही थी.

अब मैं फिटनेस सेंटर में एक्सरसाइज के लिए रोज़ भाभी की हेल्प करने लगा और धीरे धीरे हम फ्रेंड्स बन गए. हम दोनों ने नम्बर भी एक्सचेंज कर लिए. मैंने अब तक उनकी फैमिली के बारे में ज्यादा कुछ पूछा नहीं था.

फिर एक दिन पूनम भाभी का रात को व्हाट्सैप पर मैसेज आया.
मैंने पूछा- क्या हुआ?
तो वो बोलीं- बस वैसे ही मैसेज किया है … क्योंकि बड़ा बोर हो रही थी.
मैंने पूछा- क्या आप के हसबैंड आप को बोर होने देते हैं?
उन्होंने कहा- वो कुछ दिन के लिए दिल्ली गए हुए हैं. मैं घर पर अकेली बोर हो रही थी.
मैंने पूछा कि क्यों आपके घर में और कोई नहीं है?
उन्होंने बताया कि घर पे सिर्फ उनकी सास ही हैं और उनके ससुर की काफी साल पहले डेथ हो चुकी है.

जिस टाइम भाभी का मैसेज आया, मैं लैपटॉप पे पोर्न देख रहा था. इस वक्त मैं काफी गर्म था.

जब भाभी ने मुझसे पूछा- तुम क्या कर रहे हो?
तो मैंने कहा- बस मैं मूवी देख रहा था.
उन्होंने पूछा- कौन सी?

तो मैं सोचने लगा कि क्या बोलूँ.
तभी उनका मैसेज आया- क्या पोर्न देख रहे हो?
मैंने कहा- हां.
तो उन्होंने कहा- तो फिर शर्मा क्यों रहे हो … बता देते सीधा ही … मैं तुम्हारी फ्रेंड हूँ.

फिर मैंने उनसे पूछा- आपकी आपके पति के साथ लाइफ कैसी चल रही है?
उनका मैसेज आया- ठीक है … लेकिन वो बहुत बिजी रहते हैं और मुझे बहुत कम टाइम देते हैं.

फिर भाभी ने मुझसे मेरी गर्लफ्रेंड के बारे में पूछा, तो मैंने बताया कि मेरा ब्रेकअप हो गया है. अब मैं सिंगल हूँ.
उन्होंने पूछा- उसके साथ कभी सेक्स किया था?
मैंने बोला- हां 1-2 बार, लेकिन वो बहुत डर डर के सेक्स करती थी.

कुछ देर और यूं ही भाभी से बातें होती रहीं. फिर उन्होंने मुझसे कहा- कल फिटनेस सेंटर के लिए तुम मुझे मेरे घर से पिक कर लेना.
मैंने भी खुशी खुशी हां कर दी और मुझे उस दिन ऐसा लगा, जैसे मुझे भाभी से प्यार हो गया है. मैंने उस रात उनको सोच कर मुठ मारी.

अगले दिन मैं उनके घर शाम को पहुंच गया. वो अभी साड़ी में ही थीं.
मैंने कहा- फिटनेस सेंटर नहीं जाना क्या?

उन्होंने बताया कि मैं अपनी सास को पास में ही रिलेटिव के यहां कार से छोड़ कर आई हूँ, सो थोड़ा लेट हो गयी हूँ. बैठो अभी चलते हैं.

मैंने ओके बोलते हुए कहा- मैं रुका हूँ, आप चेंज करके आ जाइए.

उन्होंने मुझे जबरन अन्दर बुलाया और कहा- तुम बैठो, मैं तुम्हारे लिए कोक लेकर आती हूँ. जब तक तुम कोल्डड्रिंक पियोगे, मैं तैयार हो जाऊँगी.
मैं सोफे पर बैठ गया. पूनम भाभी कोक लेने चली गई.

कुछ पलों बाद भाभी आईं और खुद तैयार होने की कह कर अपने रूम में चली गईं. फिर 2 मिनट बाद वो ट्रेक सूट में आ गईं. आह … वो क्या लग रही थीं. उनके चुचे उनकी टी-शर्ट को फाड़ने की कोशिश कर रहे थे.
मैं उन्हें देखता ही रह गया.

तभी भाभी बोली- क्या हुआ कुछ गड़बड़ है क्या?
मैंने कहा- नहीं भाभी … आप गजब लग रही हो.
उन्होंने नॉटी सी मुस्कराहट दी और और मेरे पास आकर बैठ गईं. वे शूज पहनने लगीं, इससे उनका जिस्म मुझे टच कर रहा था और उनकी खुशबू मुझे मदहोश कर रही थी.

मेरा बड़ा लंड भी खड़ा हो गया, मैंने जल्दी से हाथ से उसको अडजस्ट किया.
लेकिन तब तक भाभी ने देख लिया और बोलीं- क्या कर रहे हो?
तो मैंने खुलते हुए कहा- मेरा लंड खड़ा हो गया है, उसे अडजस्ट कर रहा हूँ.
ये सुनकर वो जोर से हंसने लगीं और उन्होंने मुझसे कहा- मुझसे छुपाने की कोई जरूरत नहीं है.

यह कहते ही उन्होंने अपना हाथ मेरे लंड पर रख दिया. मैंने इतनी जल्दी खेल शुरू हो जाने का सोचा ही नहीं था. मैं बिल्कुल चकित रह गया. भाभी की चुदाई की लालसा मेरे दिलो दिमाग में छाई हुई थी. मैंने उनके हाथ पर अपना हाथ रख दिया. भाभी की आंखों में वासना के डोरे तैरते हुए दिखने लगे थे. मेरी समझ में आ गया कि आज इधर ही एक्सरसाइज़ होने वाली है.

मैंने आंखों के इशारे से उनको देखा.

तब उन्होंने मुझसे लिपटते हुए खुलकर बताया- मैं तुमसे चुदना चाहती थी. आज तभी तुमको मैं घर पर बुलाया है. आज तुम प्लीज़ मेरी प्यास बुझा दो. क्योंकि मेरे पति मुझे बिल्कुल भी खुश नहीं कर पाते हैं.
मैंने ही पहल करते हुए भाभी को होंठों पर किस कर दिया. भाभी तो मानो मेरे चुम्बन का इन्तजार कर रही थीं. हम दोनों एक दूसरे पर टूट पड़े. हमारे होंठों से होंठ चिपक गए. हम दोनों 5 मिनट तक चुम्बन करते रहे.

उसी दौरान भाभी ने जल्दी से मेरी पैन्ट की जिप खोल दी और मेरा लंड पकड़ के आगे पीछे करने लगीं. मेरे बड़े और खड़े लंड को स्पर्श करते ही भाभी की चुदास भड़क उठी, वे कहने लगीं- आज मैं तुमको सेक्स का असली मज़ा दूँगी.
मैं भी भाभी के साथ आज बहुत खुश था.

मैंने भाभी को सोफ़े पे लिटा दिया और उनका ट्रेक सूट उतार कर अलग कर दिया. मैंने जोर जोर से भाभी के चुचे चूसने लगा. भाभी ‘उम्म्म उम्म्ह… अहह… हय… याह… आःह्ह.’ की आवाजें निकाल रही थीं.
भाभी ने किया चुदने का इंतजाम (Bhabhi Ne Kiya Chudne Ka Intzaam)
भाभी ने किया चुदने का इंतजाम (Bhabhi Ne Kiya Chudne Ka Intzaam)
मैंने उनकी पैन्टी उतार दी और भाभी को नंगी कर दिया. भाभी की गुलाबी चूत देख कर मेरी लार टपक गई … उनकी चूत पे एक भी बाल नहीं था. भाभी की मक्खन सी गुलाबी चूत देख कर मैं पागल सा हो गया. मुझे रुका ही न गया. मैंने झट से अपनी जीभ उनकी तंग चूत में घुसा दी.

भाभी की मस्ती खिल उठी. मैं कुत्तों की तरह भाभी की चूत चाटने लगा. वो टांगें खोल कर ‘उम्म उम्म्ह… अहह… हय… याह… ऊऊह …’ की आवाजें निकाल रही थीं. कुछ ही देर में भाभी की चूत रो पड़ी और उसका पानी निकल गया. मैं भी रोती हुई चूत का सारा रस पी गया.

इसके बाद भाभी का नम्बर आ गया. वो मेरे लंड को रंडियों की तरह चूसने लगीं. मुझे ऐसा लगा जैसे मैं जन्नत में हूँ. पांच मिनट बाद मैं भी उनके मुँह में ही झड़ गया और वो मेरा सारा माल पी गईं.

थोड़ी देर और हम ऐसे ही एक दूसरे को चूमते रहे और अब मेरे से रहा नहीं जा रहा था. मैंने अपना लंड उनकी चूत के पास ले गया और उनकी टांगें उठा कर अपना लंड अन्दर डालने लगा.
अभी थोड़ा सा ही लंड अन्दर डाला था कि वो चीखने लगीं ‘आआय यीईई आह्ह्ह ओह्ह … मर गयी!’

मैंने उनकी चिल्लपों पर ध्यान नहीं दिया. लंड पेलने में लगा रहा. मैंने पूरा जोर लगा कर अपना 6.4 इंच का पूरा लंड चूत के अन्दर डाल दिया. भाभी की तेज़ चीख निकल गयी. उनकी थोड़ा आंखों से पानी भी निकल आया था.
मैं उनको चुम्बन करने लगा और चूची सहलाने लगा.

जैसे ही दर्द थोड़ा कम हुआ, वो खुद ही आगे पीछे होने लगीं. अब मैंने भी स्पीड पकड़ ली और जोर जोर से चूत चोदने लगा. धकापेल चुदाई के दौरान वो 2 बार झड़ चुकी थीं. लेकिन मैंने बिल्कुल स्पीड कम नहीं की. फिर 15 मिनट बाद मैं भी झड़ने वाला था, तो मैं उनके अन्दर ही झड़ गया और उनके ऊपर लेट गया.

भाभी बहुत खुश थीं. उनकी आंखों से ख़ुशी के आंसू निकल रहे थे. हमने फिर एक दूसरे को बहुत चूमा चाटा.

उन्होंने कहा- इससे पहले कभी भी इतनी देर तक चुदाई नहीं हुई और न ही इतनी अन्दर तक मैंने लंड को महसूस किया.
मैंने भी उनसे कहा- आगे से मैं आपको इससे भी अच्छा चोदूँगा … आज तो पहली बार था तो मुझे भी जल्दी पड़ी थी.

मैंने भाभी को फिर से चूमा और मैं उनको दुबारा चोदने की कहने लगा.
लेकिन भाभी ने कहा- आज नहीं, मुझे अपनी सास को लेने जाना है.

फिर हम दोनों ने जल्दी से अपने कपड़े वापस पहन लिए और मैं भाभी को बाइक पर लेकर निकल गया.

उस दिन हम दोनों फिटनेस सेंटर नहीं गए और जूस पी कर बाइक पे कुछ देर घूमते रहे … फिर मैंने उनको घर छोड़ दिया, जिधर से वे कार से अपनी सास को लेने चली गईं.

दोस्तो, कैसी लगी मेरी सच्ची सेक्स कहानी. अगर मुझसे कोई गलती हो गयी हो, तो क्षमा कीजिएगा. मेरी कहानी के बारे में अपने विचार मुझे ज़रूर बताइएगा.
भाभी ने किया चुदने का इंतजाम (Bhabhi Ne Kiya Chudne Ka Intzaam) भाभी ने किया चुदने का इंतजाम (Bhabhi Ne Kiya Chudne Ka Intzaam) Reviewed by Priyanka Sharma on 8:40 PM Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.